आम के पत्ते से वशीकरण

आम के पत्ते से वशीकरण

आम के पत्ते से वशीकरण, आम के पत्ते का उपयोग वैदिक पूजा-पाठ के लिए बहुत ही शुभ माना गया है, जबकि इसका वशीकरण के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। तांत्रिक साधना हो या फिर दूसरे तरह के अनुष्ठान उनमें पीपल, तुलसी, पान आदि के पत्तों की तरह ही आम का पत्ता अचुक प्रभाव देता है। इस बारे में कुछ विशेष उपाय इस प्रकार हैंः-

आम के पत्ते से वशीकरण
आम के पत्ते से वशीकरण

सहवास के वास्ते वशीकरणः कई बार स्त्री की यौनकांक्षा में अरूचि पैदा हो जाती है। दंापत्य जीवन में सुख की कमी आने का यह एक कारण बन सकता है। इसके लिए पत्नी की इच्छा के बगैर सहवास का आनंद एकतरफा होता है। इसलिए पत्नी में इसकी इच्छा जागृत करने के लिए आम के पत्ते का प्रयोग कर वशीकरण किया जाता है।

दो आम के साबूत पत्ते लें, जिसमें डंठल भी लगा हो। एक पत्ते पर पत्नी का नाम लिख लें और दूसरे पर नीचे दिए गए मंत्र लिखें। दोनों पत्तों को जोड़कर काले धागे से बांध दें। उसे काले धागे से ही गले में लटका लें और पत्नी के सामने जाएं या फिर उसकी तस्वीर देखें। मंत्र का तीन या पांच बार जाप भी करें। ऐसा करने पर पत्नी आपको देखते ही वशीभूत हो जाएगी।  मंत्र इस प्रकार हैः-स़्त्री नमी विशि का्रांति हामी कुरु कुरु संभोगरी मणि मणि स्वः!!

सात आम के पत्तेः वशीकरण के लिए आम के सात पत्तों का यंत्र बनाएं। उसपर मंत्र प्रयोग करें। स्त्री या पुरुष को अपने वश में करने के लिए अपनाया जाने वाला प्रयोग बहुत ही अचूक असर करता है। यह यंत्र बंगाली वशीकरण यंत्र से जाना जाता है। इसके लिए अमावस्या के दिन आम के सात पत्ते तोड़ लाएं,

जो साबुत हों और कहीं से भी कटे-फटे नहीं हों। उनपर लाल स्याही या सिंदूर को पानी से गीला कर वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति का नाम लिखें। पत्तों को मोड़कर लाल धागे से माला की शक्ल दें। उसके बाद सफेद कागज पर 12 घरों का यंत्र बनाएं। उन घरों में  ऊपरी खाने से शुरू करते हुए बाएं से दायीं ओर चलकर एक से आगे के अंक लिख दें।

यंत्र के नीचे वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति का नाम और मंत्र लिखें। इस तरह से  वशीकरण यंत्र बन जाएगा। उसे सामने रखकर नीचे दिए गए मंत्र का 102 जाप करें। जाप के समय सरसों के तेल का दीपक जलाकर रखें। जाप खत्म होने के बाद कपूर के कुछ दानों के साथ यंत्र का जला डालें। बचे राख को हाथ में लें और व्यक्ति के होने की दिशा में दो फूंक मारकर राख को उड़ा दें। यह एक तरह से गुप्त रूप से किया जाने वाला टोटका है। जाप मंत्र हैः-

ऊँ वैश्य नमोः वन्य भवा काल क्लीं कुरुम प्श्यू देवों ह्रीं ह्रीं ह्रीं स्वः!!

प्रेमिका को सम्मोहित करनाः प्रेम में रूठना मनान तो चलता रहता है, लेकिन यदि प्रेमिका से मनमुटाव बढ़ जाए और उसका किसी दूसरे प्रति आसक्ति बढ़ जाए तब आम में पत्ते के साथ ऊपर बताए बंगाली तंत्र-मंत्र के टोटके को अपनाना चाहिए। इसी शुरूआत किसी भी माह के कृष्ण पक्ष की पहली तिथि से  करते हुए दो चरणों में पूरा किया जाता है।

घर के किसी एकांत स्थान पर पूरब दिशा की ओर मुंह कर आसन लगाएं। अपने सामने रखे सरसो तेल का एक दीपक या चंदन की सुगंध वाली अगरबत्ती जलाएं। उसके बाद नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें। मंत्र में अमुक शब्द के आगे प्रेमिका नाम लें। जाप मंत्र है-

काली चिड़िया चिंग चिंग बोले, काली बनकर जाए!

अमुक को वश मंे करवाए, ना करवाई तो यति हनुमंत की आन!!

दूूसरे चरण में प्रयोग में अष्टमी के दिन हवन-सामग्री के साथ 108 बार आहूति देकर  पहले चरण के मंत्र के साथ हवन करें। हवन सामग्री में आम के सूख पत्ते का उपयोग अवश्य करें और अंत में बंगाली वशीकरण

यंत्र की भी आहूति दे दें। हवन के समय मिठाई और फल रखें। जाप पूरा होने के बाद खाने की किसी एक मिठाई या फल को हाथ में लेकर सात बार मंत्र का उच्चारण करें। अभिमंत्रित मिठाई या फल प्रेमिका को खिला दें। यह उपाय रूठकर मायके जा बैठी पत्नी को मनाने के लिए भी किया जाता है।

आम के पत्ते का यंत्रः वशीकरण के लिए आम के मात्र एक पत्ते के साथ आजमाया हुआ बहुत ही आसान उपाय है। शाम के समय सूर्यास्त से पहले आम का ताजा पत्ता तोड़ लाएं।  जिसे वशीभूत करना चाहते हैं पत्ते पर लाल सिंदूर से उसका नाम लिखें और सदाबहार फूलों के साथ लपेट कर आम के वृक्ष या फूल के पौधे के नीचे जमीन में गाड़ दें। अगले रोज सुबह सूर्योदय से पहले उसे निकालें और गायत्री मंत्र के 108 जाप के साथ नदी के बहते पानी में प्रवाहित कर दें।

शनिवार का टोटकाः वैसे तो शनिवार के दिन कई तरह के टोटके किए जाते हैं, जिनमें विभिन्न वस्तुआंे और पत्ते का इस्तेमाल होता है। परंतु शनिवार के दिन आम के पत्ते से प्रेमिक या पत्नी का वशीकरण किया जा सकता है। अपनी लंबाई के बराबर लाल रेशम का धागा लें और उसे धोकर आम के एक सबूत पत्ते में पर लपेट दें।

उससे पहले पत्ते पर प्रेमिका या पत्नी का नाम लिख दें। यह काम प्रातः सूर्योदय से पहले करें और नदी के बहते पानी में उसे ऊँ नमः शिवाय जाप करते हुए प्रवाहित कर दें। इस प्रयोग सोमवार के दिन से शुरू कर लगातार सात दिनों तक करें। आठवें दिन इसका असर दिखेगा।

आम का पत्ता और शहदः प्रेमिका का मन मोहने के लिए आम के पत्ते को शहद में डूबोकर मंत्र जाप और हवन करने से वशीकरण का अचूक असर होता है। इससे पहले मिट्टी के कुल्हड़ में शहद भरकर रखें। उसमें कपूर, लौंग का महीन चूर्ण और पान का रस डाल दें। इसमें प्रेमिका के निवास स्थान की थोड़ी मिट्टी मिला दें।

संभव हो तो प्रेमिका के पसंद के फूल को भी पीसकर डाल दें। उसके बाद भैरवी चक्र बनाकर देवी त्रिपुर मोहिनी की धूप और दीप से पूजन करें। पास में कुल्हड़ को रखें और नीचे दिए गए मंत्र का 108 बार जाप करें। मंत्र हैः

ऊँ नमः देवी त्रिपुर, वशम् वशम् कुरु कुरु स्वाहा!!

इस जाप को 21 दिनों तक करने के बाद उसी दिन हवन सामग्री के साथ हवन करें। हर बार मंत्र जाप के साथ आम के पत्ते से कुल्हड़ के शहद को हवनकुंड में डालें। यह सावधानी से किया जाने वाला हवन होगा। इसमें हवन की आग बुझनी नहीं चाहिए। यह प्रयोग बहुत प्रभावित करने वाला है।        

अमरबेल से वशीकरण

[Total: 1    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp chat