पुलिस केस मुकदमा में विजय का उपाय

पुलिस केस जेल मुकदमा में विजय/बचने का उपाय

कोर्ट-कचेहरी के चक्कर एक समय जो भी लगाता था, वह खराब किस्म का आदमी माना जाता था। लोग कहते थे की यह आदमी तो हमेशा गलत कामों के वजह से कानूनी कार्यवाही में फंसा रहता है।  फिर वह समय बदल गया। आज कल हमारे देश में हर तीसरा-चौथा आदमी कोर्ट-कचेहरी के चक्कर काट रहा है। लोग उसे आम मानने लगे हैं क्यूंकि आजकल के समय में यह मुसीबत सब के सर पर उमड़ रही है।

पुलिस केस मुकदमा में विजय का उपाय
पुलिस केस मुकदमा में विजय का उपाय

आप चाहे कितने भी नेक हों और कितने भी ईमानदारी से काम करते हों आप कभी न कभी आज के ज़माने में कानून के कटघरे में अपने आपको पाएंगे। लेकिन इससे यह न समझें की सब गए तो सब ठीक ही होगा, असल बात तो यह है की इतने कोर्ट केसेस होने के कारण कोर्ट लम्बा खींच देता है केसेस को, तो अगर आपका केस गंभीर नहीं है तो ४ से ५ साल तक लग जाना आम है।

ऐसे में एक तो पैसे का फ़िज़ूल खर्चा होता है और दूसरा दर्ज केस की अर्ज़ी लगाते-लगाते इंसान थक जाता। यह सबसे महत्त्वपूर्ण है की उसका नतीज़ा क्या निकलेगा, और इसी को आपकी मुट्ठी में प्रदान करने के लिए हमने उपाय ढूंढें हैं। इनको अगर आप लागू करेंगे तो आपको यह फल मिलेगा की आप इन पुलिस, कोर्ट, जेल से बचने के उपायों को कर अपने आपको सफल ढंग से मज़बूत बना पाएंगे। आप बस हमारे बताये हुए तरीके को आज़मा के देखिये, बाकी सब निश्चिन्त रूप से हो जायेगा।

मुकदमा में विजय टोटका

मंगलवार के दिन से शुरुआत करें इस कार्य की। शाम चार या पांच बजे के आस-पास गेंहूं की रोटी को तोड़ कर चूरा बना लें, फिर उस मिश्रण में देसी घी और चीनी मिला दें। अब इस चुरे को ले जा कर कौओं को खिला दें, यह कार्य रोज़ के रोज़ तब तक करते जाएं जब तक मुक़दमें की तारीख़ नहीं आ जाती, इस दिन उन कौओं में से जो रोज़ आके चूरा खाते हैं, में से किसी एक कौए का एक पंख ले लें और उसे अपनी बांयें जेब में रख कर कचहरी जाएं तो काम में सफलता आएगी। इसके बाद भी कम से कम एक हफ्ते तक रोज़ कौओं को रोटी, देसी घी और चीनी का चूरा ज़रूर खिलाते रहें। आप यह पाएंगे की विजय आपकी होगी।

मुकदमा में विजय टोटका

जब भी अदालत जाएं किसी हनुमान मंदिर में धुप-दीप जलाकर, बेसन के लड़्डू या फिर गुड़ और चने का भोग लगाएं इसके पश्चात हनुमान चालीसा और हनुमान बाण का पाठ ज़रूर करें और फिर आप पाएंगे की आपके मनोकामना ज़रूर पूरी होगी और आप मुक्कदमें में जीत हासिल कर पाएंगे।

जब भी अदालत जाएं तो गहरे रंग के कपडे पहन कर ही जाएं, इससे भी आपको फायदा प्राप्त होगा। अपने अधिवक्ता को कोई भी काम की वास्तु जैसे कलम आदि ज़रूर सप्रेम भेंट करें, इससे भी फायदा होता है। अपने कोर्ट केस की फाइल को अपने घर के पूजा घर में रख दें, ईश्वर से प्राथना करें की आपकी सफलता हो और वे आपकी रक्षा करें। यदि आप ग्यारह हकीक नामक पत्थर किसी मंदिर में दान कर दें और कहें की मैं -आपका नाम- कार्य में विजयी होना चाहता हूँ तो आप निश्चय ही अपने कार्य में विजयी होंगे। अगर ऐसा हुआ हो की आप कोर्ट-कचेहरी के चक्कर में डूब रहे हों, आपके आशाओं के पुल टूट रहे हों और आपको कहीं भी सफलता की किरण नज़र नहीं आ रही हो तो फिर आप सात मुखी, पांच मुखी या ग्यारह मुखी रुद्राक्ष की माला धारण करें।

यदि आपके अदालती केस में कोई सफलता न आ रही हो तो आप ५ गोमती चक्र को अपनी शर्ट की जेब में रख लें और स्वर के हिसाब से बांयां पैर कचेहरी में पहले रखें, अगर स्वर नहीं समझ आ रहा हो तो दांयां पैर पहले रखें और अदालत में प्रवेश करें, आपके केस में सफलता आएगी। जिस बार आप पहली दफा अपने कोर्ट केस की सुनवाई के बाद लौट रहे हों, तब आप लौटते वक़्त रास्ते में किसी भी मज़ार पर अवश्य रुकें और उसके पश्चात ही घर लौटें। अगर आपको ऐसा पता चले की आपकी सुनवाई के पश्चात सज़ा आपको सुनाई जाएगी तो आप कोयले में अपना वजन तौलवा के उसे बहती नदी में प्रवाहित करें, और भगवन से प्राथना करें की आपके इस जन्म और पिछले जन्म के पापों के लिए आपको क्षमा की जाए, ताकि आप इस बार इस मुसीबत से बच सकें और एक सुखद जीवन व्यतीत कर सकें।

किसी भी मुक्कदमें के लिए ख़ास कर और वाद-विवाद के लिए भी, आप अगर अपनी अनामिका उंगली यानी सबसे छोटी उंगली में त्रिकोण आकर का मूंगा धारण कर लें और उसे सोने या ताम्बे में जडवाएँ तो आपको सफलता प्राप्त होगी।

मुकदमा में विजय का उपाय/मंत्र

मुक्कदमा जीतने के लिए एक अचूक मंत्र और उसकी साधना हम आपके समक्ष रखने जा रहे हैं, आप अगर इसका प्रयोग ध्यान से करेंगे तो आपकी विजय पक्की है – मंत्र जिसका जाप करना होगा है –

ॐ क्रीम क्रीम क्रीम धूम्रसारी बदाक्षम विजयति जयति ॐ स्वः

इस मंत्र का प्रयोग करने की विधि कुछ इस प्रकार है की आप त्रयोदशी का इंतज़ार करें जब पुनर्वसु नक्षत्र हो, तब सुराही के चर्मसं पर किसी सरिता के निकट मूंगे की माला से यह मंत्र जपें तो यह मंत्र सिद्ध होगा। फिर जब आपको इस मंत्र का प्रयोग करना हो तो आप इस मंत्र का ७ बार पढ़ें और हाकिम के करीब जाएं तो असर अवश्य दिखेगा।  और आपको आपका मनचाहा फल प्रदान होगा।

इस तरह हमने आपके समक्ष कई उपाय रखे हैं जिनके अनुसार अगर आप कार्य को प्रतिष्ठित करेंगे तो आप की मनोकामना ज़रूर पूर्ण होगी, आपको बस इतना ज़रूर करना है की जो भी प्रयोग करें ध्यान से करें कुछ छूटने न दें और कुछ भूल चूक में न जाने दें, अन्यथा पूरे कार्य में अड़चन आना स्वाभाविक है और इसका आपको पता भी बहुत देर से चलेगा|

अगर इन सब कार्यों के अलावा भी आपको कुछ और ज़रुरत हो या फिर आपकी समस्या ज़्यादा गूढ़ होती जा रही हो तो आप किसी अच्छे ज्योतिषि से मिलें या फिर किसी तांत्रिक से संपर्क कर उससे सलाह लें की आगे क्या करने चाहिए, कैसे करना चाहिए और किसी वक़्त करना चाहिए।

 

[Total: 1    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp chat