वशीकरण उपाय

वशीकरण उपाय

प्रेम में सफल होने के लिए वशीकरण उपाय – लड़की वाले या लड़के वाले शादी के लिए नहीं मान रहे तो उपाय ,” जब प्रयोग करना हो तो यह सारा सामान लेकर अंडे पर मन्त्र लिख लें और उस आदमी का नाम भी लिख लें जिसकी जमानत करवानी हो और २१ बार मन्त्र जपकर सारा सामान लेकर किसी चौराहे पर चले जायें और शराब से सारे सामान के चारोँ तरफ गोला बना दें शराब की बोतल ख़ाली कर दें और अंडा ज़मीन पर मारकार तोड़ दें और कहें,जिस तरह यह चौराहा खुला है उसी तरह अमुक के सारे रास्ते खुल जायें !

वशीकरण उपाय
वशीकरण उपाय

अगर आपका जीवनसाथी, प्रेमिका, प्रेमी आप से दूर चला गया हो और वो आपको संपर्क न करे तो आप यह सरल प्रभावकारी टोटका कर सकते है ! आपका बॉस आपसे खुश नहीं रहता या आप की तरफ ध्यान नहीं देता तो भी आप यह कर सकते है !
आप सबसे पहले किसी भी दिन दो सूखे हुए पीपल के पत्ते तोड़ ले, नीचे से न उठाए, कुछ पीले/सूखे से हो, आप जिस से प्यार करते है, या जिस व्यक्ति को प्रभावित करना चाहते हो उस का नाम दोनों पीपल के पत्तो पर लिख दे, एक पत्ते को वही पीपल के पेड़ के पास उल्टा कर के रख दे और उस पर भारी पत्थर रख दे, और दुसरे पत्ते को घर की छत पर उल्टा कर के रख दे और उस पर भी पत्थर रख दे, और प्रतिदिन पीपल के पेड़ में पानी भी चढाये ! कुछ दिन बाद आप को वह व्यक्ति संपर्क करेगा और वो आपकी तरफ आकर्षित होने लगेगा !

आपको जिस भी व्यक्ति को आकर्षित करना है उस के लिए आप ऐसा कर सकते यदि किसी की पत्नी या प्रेमिका अकारण रूत गयी हो .. या आपस में हमेशा कलह रहता हो तो यह प्रयोग करना चाहिए . यदि किसी कन्या से बातचीत तो होती है .. लेकिन सबकुछ खुला खुला सा नहीं हो .. फिर भी दिलमें यह तमन्ना हो की उस कन्या से विवाह हो तो भी यह प्रयोग किया जा सकता है .
इसका प्रयोग किसी भी माह के कृष्णा पक्ष के पहली तिथि से शुरू किया जाता है . इसके लिए किसी एकांत कमरे में आसान बिछाकर बैठ जाये . साधक का चेहरा उत्तर या पूर्व दिशा की और होनी चाहिए . अपने सामने मात्र एक दीपक और एक अगरबत्ती जला पर्याप्त रहता है . फिर निम्न मंत्र को 108 बार पढ़ना चाहिए
.
मन्त्र: “काली चिड़िया चिग चिग बोले
कली बन कर जाए
अमुक को वश में कर से करिये
ना करिए तो यति हनुमान कीआन

ऐसा सप्तमी तिथि तक दुहराया जाता है मंत्र में लिखी अमुक के जगह पर अपनी पत्नी या प्रेमिका का नाम लेना चाहिए अगले दिन यानि अष्टमी को ,, शाकल्य + गुड + गुग्गल + घृत + आपस में मिलकर ईसिस से १०८ बार आहुति अग्नि में दे जाती है बस यह मंत्र काम करना शुरू कर देती है , इसके बाद जब कभी मौका मिले भी खाद्य – पदार्थ पर मंत्र सात बार पढ़कर प्रेमिका या पत्नी को खिला देनी चाहिए। .. बस समस्या समाधान के रस्ते सामने आ जाते है|
यदि इस क्रिया से समस्या समाधान के रस्ते तुरंत न खुले तो कोई आश चारी की बात नहीं .. क्योंकि विपरीत गृह के कुप्रभाव के कारन समुचित फल नहीं मिल पता है . गढ़ शोधन के उपाय भी कर लेनी चाहिए .

जन्मांग में यदि प्रेम विवाह का योग न हो तो यह तंत्र निष्फल हो जायेगा . यदि जन्मांग मंड “तलाक का योग ” हो तो भी यह प्रयोग निष्फल हो जायेगा . ऐसे में कुंडली परिक्षण करवा लेनी चाहिए और उपाय के अन्य संसाधन के भी प्रयोग कर लेनी चाहिए . इसी तरह की एक और सिद्धि होती है …. अतर मोहिनी सिद्धि . इस सिद्धि के लिए 40 दिनों तक साधना करनी होती है . वैसे सिद्ध अतर को कोई भी अपने ऊपर / वस्त्र पर लगा कर अपने साध्य से मिलकर अनुकूल प्रभाव दाल सकता है . मैंने सिद्ध की हुई अतर मोहिनी को .. बहुतों को दिया …. सभी के चेहरे पर मैंने ख़ुशी युक्ता रहस्य्मयी मुस्कान देखे . यह देख कर तो मई यही अंदाज लगा सकता हूँ की , उनको मनो -वांछित सफलता हासिल हो गयी .

गृहस्थ जीवन में सुख की चाह हर व्यक्ति के मन में समाई हुई होती है. जीवन का सच्चा सुख व्यक्ति को हर राह पर आगे ही लेकर जाता है परंतु परिवार में व्याप्त कलह – कलेश व्यक्ति के जीवन को कठीनाईयों एवं परेशानियों से भर देते हैं. इसी गृह कलेश से बचने के लिए ज्योतिष में कई प्रकार के उपाय दिए गए हैं जिनका उपयोग करने से जीवन को सुखमय एवं खुशहाल बनाया जा सकता है.

परिवार में उत्पन्न गृह कलह किसी भी कारण से हो सकती है पिता पुत्र के संबंधों में तनाव होना, पति पत्नी के संबंधों में अनबन इत्यादि अनेक समस्याएं रोजमर्रा के जीवन को प्रभावित करती हैं. अत: इनसे बचने हेतु आप कुछ उपाय करके जीवन को सुखी बना सकते हैं.

पति पत्नी में कलेश दूर करने के लिए और वैवाहिक जीवन सुखी बनाने के लिए आपको चाहिए कि आप श्री गणेश जी और शक्ति की उपासना करे. सोते समय पूर्व की और सिर रखकर सोने से तनाव में कमी आती है. ऎसा करने से आपमें सकारात्मक उर्जा का संचार होता है.

चींटियों को शक्कर डालने से समस्याओं का निवारण होता है. भोजपत्र पर लाल कलम से पति का नाम लिखकर तथा “हं हनुमंते नमः” का 21 बार उच्चारण करते हुए उस पत्र को घर के किसी कोने में रख दें ऎसा करने से धीरे धीरे दांपत्य जीवन में उत्पन्न कलहपूर्ण वातावरण दूर हो जाएगा.

हनुमान मंदिर में भगवान को चोला चढाएं एवं सिंदूर चढाएं ऎसा करने से परेशानियों से राहत प्राप्त होगी. ऎसा प्रत्येक मंगलवार एवं शनिवार के दिन करें.गेंदे का फूल पर कुंकुम लगाकर उसे किसी देव स्थान में मूर्ति के समक्ष रखने से रिश्तों में आया तनाव एवं मतभेद दूर होते हैं.

छोटी कन्या को मीठी वस्तु खिलाने एवं भेंट इत्यादि देने से आपके संकटों का निवारण होता है.
यदि पति-पत्नी के मध्य तनाव अधिक बढ़ जाए तो तीन गोमती चक्र लेकर घर के दक्षिण में हलूं बलजाद कहकर फेंक देंने से तनाव दूर होगा. पांच गोमती चक्र को लाल सिंदूर की डिब्बी में घर में रखने से दाम्पत्य जीवन में सुख-शांती रहती है.

 

[Total: 2    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp chat