अमरबेल से वशीकरण

अमरबेल से वशीकरण

अमरबेल से वशीकरण, क्या आपने कभी इससे पहले इस नाम को सुना है आज हम अमरबेल से वशीकरण के बारे में आपको बताने जा रहे हैं दोस्तों।

आप में से बहुत लोगों के लिए यह नाम नया है क्योंकि अमरबेल के बारे में बहुत सारे लोगों को अच्छी तरीके से कोई जानकारी नहीं है तो हम अमरबेल से वशीकरण के बारे में जानने से पहले  अमरबेल के बारे में कुछ बातें जानते हैं।

दोस्तों अमरबेल नाम से आप लोग अपरिचित है लेकिन जब हम आपको इसके बारे में बताएंगे कि यह कहां मिलता है एवं यह कैसे दिखता है तो आपको हैरानी होगी क्योंकि यह हमारे आसपास ही देखने को  मिलता है।

अमरबेल से वशीकरण
अमरबेल से वशीकरण

अमरबेल एक लता है जो अक्सर बबूल के पेड़ पर,पीपल के पेड़ पर एक लते की तरह रहता है अमरबेल को आप शहरों में कम एवं गांवों में ज्यादा देखेंगे। यह अमरबेल वैसे बहुत ख़तरनाक लता है यह जिस भी पेड़ में चिपक जाता है वह पेड़ मर जाता है।

अमरबेल एक जड़ी बूटी है। लोग दवा बनाने के लिए जमीन के ऊपर के हिस्सों का उपयोग करते हैं। मूत्र पथ, तिल्ली और यकृत संबंधी विकारों के इलाज के लिए इसका उपयोग किया जाता है। अमरबेल का अपना कोई वजूद नहीं होता है यह दूसरों पर आश्रित एक लता है।

दोस्तों यह आपके स्वास्थ्य को ठीक रखने सकता है क्योंकि यह उपचार के क्षेत्र में बहुत लाभकारी सिद्ध हुआ है। अगर आपके शरीर में रक्त संचार कम होता है तो यह अमरबेल आपके शरीर के रक्त संचार को बढ़ा देगाआइए जानते हैं कि कैसे आप अपने शरीर के हर अंग के ऊपर वशीकरण पा सकते हैं अपने रोगों को वशीभूत कर सकते हैं इस अमरबेल के माध्यम से।

जिन लोगों को पिंपल्स फोड़े फुंसी इत्यादि होते रहते हैं उनके शरीर में रक्त खराब होता है इस वजह से उनको चेहरे पर फोड़े फुंसी निकलते रहते हैं मगर अगर आप अमरबेल  के ताजी फलियों को तुलसी के पत्ते के साथ चबा कर खा लेंगे या चूस लेंगे तो आपको फोड़े फुंसी से हमेशा हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगा और आपका चेहरा बिल्कुल सुंदर दिखने लगेगा और आपके शरीर में रक्त का प्रभाव भी बढ़ जाएगा।

अगर आप 1 हफ्ते तक ऐसा लगातार करेंगे तो इससे आपका रक्त संचार अच्छी तरीके से होगा एवं हृदय से संबंधित रोग भी आपका दूर हो जाएगा और आपको भविष्य में कभी भी हार्टअटैक से संबंधित कोई भी समस्या नहीं होगी यानी कि आप जीवन भर के लिए सुरक्षित हो गए।

जिनको टॉयलेट के रास्ते में प्रॉब्लम होती है जिनको मूत्र से संबंधित बीमारियां है वह भी अमरबेल का प्रयोग करके अपने इस बीमारी को ठीक कर सकते हैं अगर आप अमर बेल के पत्ते का रस रोजाना पिएंगे तो आप का मूत्र से संबंधित सभी समस्याएं दूर हो जाएगी और इस तरीके से आप अपने मूत्र संबंधित रोग को भी वशीभूत कर सकते हैं अमरबेल के माध्यम से।

अगर आपके घर में कोई छोटा सा बच्चा है जो किसी भी चीज को याद नहीं रख पा रहा है या आप स्वयं किसी चीज को रख कर भूल जाते हैं यानी कि आपकी याददाश्त शक्ति कमजोर है तो अमरबेल आपके याद शक्ति को मजबूत करता है इस तरह से आप अपने याद शक्ति को भी वशीभूत कर सकते हैं अमरबेल के माध्यम से।

अगर आप अमरबेल के फूलों से गुलकंद बनाकर रोजाना खाते हैं तो इससे आपके याद शक्ति मजबूत होगी एवं बढ़ेगी यहां तक कि आप एक बार जो चीज को देख लेंगे पढ़ लेंगे समझ लेंगे उस बात को आप कभी भी जिंदगी में नहीं भूलेंगे।

आप में से बहुत से लोग अपने दांतों के पीलेपन को लेकर घबराए हुए रहते हैं आप लोग समाज में जाने से पहले हंसने से भी डरते हैं एवं छुपकर हंसते हैं और अपने दांतो को देखते हैं मगर अमरबेल के माध्यम से आपकी यह समस्याएं भी दूर हो जाएगी और आप अपने दांतों के पीलेपन को भी वशीभूत कर सकते हैं तो चलिए जानते कि किस तरह अमरबेल के माध्यम से आप अपने दांतों के पीलेपन को बिल्कुल सफेद करके हीरे जैसा चमचमा  सकते हैं।

आप अपने दांतों के पीलेपन को हमेशा हमेशा के दूर करने के लिए अमरबेल के पत्तों के रस के साथ सादा नमक मिलाकर उसे अपने दांतो पर रोजाना लगाइए इससे आपके दातों का पीलापन धीरे-धीरे दूर हो जाएगा और आपके दांत बिल्कुल सफेद हो जाएगा ।

जो महिला एवं पुरुष अपने चेहरे को लेकर थोड़ा सेंसेटिव रहते हैं और बात-बात पर डॉक्टर के पास या पार्लर में दौड़ते अपने चेहरे की सुंदरता को निखारने के लिए तो हम आपको बता दे अमरबेल के माध्यम से भी अपने चेहरे को निखार सकते हैं आप और सुंदर बना सकते हैं।

अमरबेल से दूध टाइप का कुछ निकलता है उस दूध को अगर आप अपने चेहरे पर हर 2 दिन 3 दिन या हफ्ते में एक बार लगा सकते हैं तो आपके चेहरे पर अलग सा निखार आएगा अलग से सुंदरता आएगी। यह सुंदरता बिल्कुल प्राकृतिक होगी इसके लिए आपको ना ही किसी क्रीम का इस्तेमाल करना है और न किसी पाउडर का यह नेचुरल तरीके से आपके चेहरे को निखार देगा।

आप में से बहुत लोगों को चोट लगते हैं वह चोट सूखने  में बहुत समय लग जाता है अगर आप अमरबेल का पूरे जड़ का काढ़ा बना लेते हैं और उस काढ़े को अपने गांव पर या चोट पर छिड़का देते हैं तो आपका घाव एक-दो दिन के अंदर सूख जाएगा एवं पकेगा भी नहीं जिन लोगों के घाव चोट पक जाते हैं उन लोगों के लिए यह अमर बेल का चूर्ण बहुत लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

आज के इस युग में हर घर में कोई ना कोई जोड़ों के रोग से पीड़ित है अगर आपके घर में भी कोई ऐसा है जो जोड़ों के दर्द से घुटनों के दर्द से पीड़ित है तो आप उनके लिए अमरबेल के पूरे एक जड़ से एक पेस्ट बना दीजिए और पेस्ट को  लगा दीजिए जिनको घुटनों में प्रॉब्लम है दिक्कत है ऐसा करने से घुटनों का दर्द दूर हो जाता है और दोबारा कभी भी दर्द नहीं होगा। आप कुशल रहे।

जड़ी बूटी से वशीकरण

[Total: 1    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp chat